Gemstones

Gemstones

प्रत्येक रत्न का अपना एक ऊर्जा क्षेत्र होता है. साथ ही रत्न अपने में वह विशिष्ट गुण भी समेटे है जिसे उसका प्रतिनिधि ग्रह धारण किये है. ग्रह किसी देवी या देवता को भी इंगित करता है. यह संयोजन मिलकर ऐसे ज्योतिषीय उपचार की रचना करता है जिससे जातक को सहज ही ग्रह पीड़ा से निदान प्राप्त होता है.

Gemstones

Ruby

माणिक्य सूर्य रत्न है. सूर्य को बल देने के लिये इसे पहना जाता है. इसे धारण करने से आत्मबल में वृद्धि होती है. स्वभाव में राजसी तत्व का विकास होता है. माणिक्य अनामिका उंगली में स्वर्ण में पहना जाता है.

Ruby

Ruby represents Sun. It is worn to emphasize Sun. It increases the strength and confidence of the native. Majestic elements in nature grows . Ruby is worn in ring finger in gold.

Pearl

मोती रत्न का अधिपति चंद्रमा है. मन की शांति, नींद ना आना, धन की कमी, सुख की कमी आदि में इसे धारण करना आदर्श है. इसे चांदी में अनामिका उंगली में पहनने का विधान है.

Pearl

Moon is the representative for Pearl. Pearl stone bestows the powers of Moon on its wearer and brings him peace of mind, and helps in case of lack of money, lack of pleasure and insomnia. Pearl is worn in ring finger in silver.

Coral

मूंगा मंगल रत्न है. साहस ऊर्जा एवं ओज के लिये इसे धारण किया जाता है. रक्त की कमी, निम्न रक्तचाप एवं उत्साह की कमी आदि लक्षणों में इसे पहना जाता है. इसे स्वर्ण अथवा तांबे में अनामिका में पहनें.

Coral

Coral is the gem of Mars. It is worn for courage, confidence, energy and vitality. It is worn for the symptoms of Anemia, low blood pressure and a lack of enthusiasm. It is worn in the ring finger in gold or copper.

Emerald

पन्ने का स्वामी बुध है. पन्ना कनिष्ठिका उंगली में स्वर्ण में पहना जाता है. पन्ना आजीविका की कमी, याद्दाश्त में कमी, दिमागी कमजोरी, व्यवहारिकता में कमी और बुध की शुभता बढ़ाने के लिये धारण किया जाता है.

Emerald

Mercury is the ruler of the Emerald. Emerald is worn in little finger in gold. It is worn for lack of livelihood, loss of memory, mental impairment, loss of viability and are held to increase the auspiciousness of Mercury.

Yellow Sapphire

पुखराज रत्न के अधिपति बृहस्पति देव हैं. बृहस्पति की शुभता को बल देने के लिये पुखराज को तर्जिनी उंगली में स्वर्ण मे पहना जाता है. इसके धारण करने से परिपक्वता, विनम्रता और विवेक में वृद्धि होती होती है.

Yellow Sapphire

Jupiter is the owner and ruling planet of Yellow Sapphire. It strengthens Jupiter and worn in index finger in gold. Its increases maturity, humility and wisdom of the native.

Fire Opal

ओपल शुक्र ग्रह का रत्न है. सुखों में कमी, पति पत्नी में वैमनस्य, विपरीत लिंगियों के प्रति उदासीनता, संतानहीनता, क्रोध, धन की कमी आदि लक्षणों में इसे पहनना चाहिये. इसे धारण करने से शुक्र को बल मिलता है. इसे चांदी में अनामिका में धारण किया जाता है.

Fire Opal

Opal represents Venus. Lack of comforts, marriage life problems, detachment with opposite sex, childlessness, anger and money crises are the ideal conditions to worn Opal. Opal is worn in ring finger in silver.

Blue Sapphire

नीलम शनि रत्न है. शनि के कुंडली में योगकारक होने पर नीलम धारण करने का विधान है. नीलम हलके रंग का पहना जाये या गहरे रंग का इसका निर्धारण कुंडली विवेचना उपरांत ही संभव होता है. नीलम पंचधातु में मध्यमा उंगली में धारण किया जाता है.

Blue Sapphire

Blue Sapphire is the gemstone of Saturn. If Saturn is yogkarka in birth chart one should be worn Blue Sapphire. Color of Blue Sapphire depends on birth chart analysis. Blue Sapphire is worn in middle finger in alloy.

Gomed

गोमेद राहु रत्न है. राहु के उत्पात को शांत करने के लिये इसे मध्यमा में पंचधातु में पहनने का विधान है.

Gomed

Hessonite represents Rahu. It is worn to pacify Rahu. Hessonite is worn in middle finger in alloy.

Cat's Eye

लहसुनिया केतु रत्न है. मुख्य रूप से यह कनकखेत, श्यामखेत और धूम्रखेत तीन प्रकार का उपलब्द्ध होता है. कुंडली विवेचना से इनमे से किस किस्म को धारण किया जाये इसका पता चलता है. मानसिक भटकाव, लक्ष्यहीनता, जिजीविषा में कमी आदि स्थितियों में इसका उपयोग आदर्श है. कुंडली विवेचना उपरांत ही इसकी धातु और उंगली का निर्धारण किया जाता है.

Cat's Eye

Ketu is the owner of Cat's Eye. Cat's Eye mainly available in three types like Kanakkhet, Shyamkhet and Dhoomrakhet. Remedial type is depends on birth chart analysis. Illusion, confusion, aimlessness, lack of will to live are the idle conditions to worn Cat's Eye. Metal and finger depends on chart analysis.

Turquoise

फिरोजा रत्न को शुक्र और शनि का मिश्रित रत्न माना जाता है. ज्योतिष में शुक्र और शनि की युति लैला मजनू की जोड़ी के नाम से प्रसिद्ध है. फिरोजा मनवांछित प्रेम प्राप्ति, नजरबट्टू , खुशनुमा मिजाज और भोगविलास के लिए पहना जाता है. इसे बड़े आकार में पहनने का रिवाज है. इसकी उंगली अनामिका और धातु चांदी है.

Turquoise

Turquoise is the combo of Venus and Saturn. Venus and Saturn are known as lovers in Astrology. Desired love, pacify the evil effects, worldly pleasure, happiness are the conditions to worn Turquoise. Turquoise is worn in ring finger in silver.