Fertility & Child

पंचम भाव और बृहस्पति इस विषय अध्ययन के मुख्य बिंदू हैं. साथ ही केतु और मंगल की कुंडली में स्थिति भी परम विचारणीय है. संतान प्राप्ति में देरी अथवा गर्भ धारण ना कर पाना, गर्भ का गिर जाना, नपुंसकता आदि विषय जीवन में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं. साथ ही पूर्वजन्म के ऋणों का भी इस समस्या से गहरा संबंध है. विश्लेषण और उपायों द्वारा समस्या के उत्तरदाई दोषों को निरस्त कर इस दिशा में सुखद वैवाहिक जीवन का आनंद लिया जा सकता है.

Note : इस सेवा के लिए अधिकतम दो दिन का समय लगेगा.

Fifth house and Jupiter are rendered to be more essential role in the progeny and are the key points of study. Ketu and Mars also play very important role. Progeny delay or inability to conceive, falling of womb, fertility or impotence play an important role in one's life. These problems are also closely linked to past life debts. With detailed problem analysis actual cause can be identified and with right remedies in this direction can help one repealed the problem and enjoy a happy married life.

Note : This service will take maximum two days.