स्त्रियों के लिए सौभाग्यशाली है हीरे की लौंग

नाड़ी ज्योतिष में बृहस्पति नाक का कारक है. साथ ही बृहस्पति वृद्धि, सौभाग्य और शुभता का कारक भी है. नाड़ी में स्त्रियों का जीवकारक शुक्र को माना गया है. हीरा शुक्र का रत्न है. जब स्त्रियां हीरे की लौंग को नाक में धारण करती हैं तो माना जाता है की जीव शुक्र का सम्बन्ध बृहस्पति यानि वृद्धि, सौभाग्य और शुभता से बन जाता है.

इसीलिए भारत में परंपरा है की स्त्रियां नाक में सच्चे हीरे की लौंग धारण करें जिससे उनके जीवन में सुख, सौभाग्य और समृद्धि का समावेश रहे.